साध्वी के घर पर पुलिस ने मारा छापा, 1.25 करोड़ के नए नोट, अढ़ाई किलो सोना जब्त…
Crime
Delhi
Delhi
दिल्ली। गुजरात के बनासकांठा में पुलिस ने साध्वी जयश्रीगिरी के घर में छापा मारकर 1 करोड़ 26 लाख रुपए के नए नोट बरामद किए। पुलिस ने छापेमारी के दौरान अढ़ाई किलो सोना और 2 दर्जन विदेशी शराब की बोतलें भी बरामद की। जयश्रीगिरी पूरे इलाके में दबंग साध्वी के रूप में भी जानी जातीं हैं, वह मुक्तेश्वर मठ से जुड़ी हुई हैं। हाल ही में एक कार्यक्रम के दौरान साध्वी ने 2000 के नए नोट उड़ाए थे, जिसके बाद से वह काफी चर्चा में आई थी। दरअसल, मामले का खुलासा तब हुआ जब एक व्यापारी ने साध्वी के खिलाफ जान से मारने और धोखाधड़ी की शिकायत दर्ज कराई थी। फिलहाल, पुलिस साध्वी जयश्रीगिरी को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ कर रही है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि उपलब्ध सूचना के मुताबिक, साध्वी जयश्री जिले के वडगाम तालुका स्थित मक्तेश्वर मठ से जुड़ी हुई है। पालनपुर के जौहरी प्रीतेश शाह ने साध्वी और 2 अन्य के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। शाह ने तीनों पर आरोप लगाया था कि सस्ती दर पर उसे सोना देने का वादा कर आरोपियों ने उससे 5 करोड़ रुपए लिए थे। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि जब तीनों ने अपना वादा नहीं निभाया, तो शाह को धोखाधड़ी का अहसास हुआ और उसने प्राथमिकी दर्ज कराई।


बैकुंठपुर थाना के सेमरा गाँव के पास हुआ दर्दनाक हादसा ,
Crime
Madhya Pradesh
Rewa
रीवा - बैकुंठपुर थाना के सेमरा गाँव के पास हुआ दर्दनाक हादसा , ट्रैक्टर से कुचलकर दो लोगो की स्पाट पर मौत , एक व्यक्ति गंभीर रूप से घायल, पुलिस मौके के लिए हुई रवाना


रिपब्लिक डे की सुबह 6 धमाकों से दहला असम, कोई हताहत नहीं रिपब्लिक डे की सुबह 6 धमाकों से दहला असम, कोई हताहत नहीं
Crime
Delhi
Delhi
रिपब्लिक डे की सुबह 6 धमाकों से दहला असम, कोई हताहत नहीं रिपब्लिक डे की सुबह 6 धमाकों से दहला असम, कोई हताहत नहीं गणतंत्र दिवस के दिन सुबह ऊपरी असम और नगालैंड सीमा पर करीब आधा दर्जन धमाकों से पूरा असम दहल गया है. हालांकि इनमें फिलहाल किसी के हताहत होने की खबर नहीं है. इनमें उल्फा उग्रवादियों के हाथ होने की अाशंका है. ऊपरी असम के चरायदेवो में दो जगहों पर और पानिजान में एक पेट्रोल पंप पर धमाका हुआ है. उल्फा ने बुधवार को चेतावनी दी थी कि वह गणतंत्र दिवस के दिन राज्य में धमाके करेगा. डिब्रूगढ़ के जालाननगर टी गार्डेन में भी एक धमका हुआ है. बताया जाता है कि असम-नगालैंड सीमा पर रात भर गोलीबारी की आवाज सुनी गई है. इसके अलावा दो बम धमाके नाजिरा इलाके की बिहुबोर में हुए हैं. ये सभी धमाके कम तीव्रता के थे, इसलिए इनमें कोई हताहत नहीं हुआ है. असम में दो स्थानों पर बम धमाके हुए हैं. गौरतलब है कि गणतंत्र दिवस पर आतंकी हमलों के मद्देनजर पूरे देश में सुरक्षा व्यवस्था काफी चुस्त है. खुफिया एजेंसियों ने पहले ही गणतंत्र दिवस के दिन आतंकी हमलों की आशंका जताई थी.


जबलपुर के पाण्डेय हॉस्पिटल पर पर जाँच शुरू
Crime
Madhya Pradesh
Jabalpur
दामोदर चौधरी के प्रकरण में मजिस्ट्रियल जाँच के आदेश जबलपुर, 23 जनवरी, 2017 जिला दण्डाधिकारी एवं कलेक्टर महेश चन्द्र चौधरी ने नरसिंहपुर जिले की तेंदूखेड़ा तहसील के ग्राम लोलरी निवासी दामोदर चौधरी के ब्यौहारबाग जबलपुर स्थित पाण्डे हॉस्पिटल में ईलाज में हुई अनियमितताओं की मजिस्ट्रियल जाँच के आदेश दिये हैं । श्री चौधरी ने जाँच के लिए अनुविभागीय दण्डाधिकारी ओमती को इस मामले की जाँच अधिकारी नियुक्त किया है । प्रकरण की मजिस्ट्रियल जाँच पांच बिन्दुओं पर की जायेगी । इनमें दामोदर चौधरी किन परिस्थितियों में पाण्डे हास्पिटल में भर्ती हुआ, पाण्डे हास्पिटल में उसे किस प्रकार का उपचार दिया गया एवं कितने आपरेशन किये गये, राज्य बीमारी सहायता योजना से प्राप्त राशि का उपयोग किस तरह किया गया, भविष्य में दामोदर चौधरी को आपरेशन एवं उपचार की क्या आवश्यकता है तथा अन्य बिन्दु जो जाँच अधिकारी उचित समझें को शामिल किया गया है । कलेक्टर श्री चौधरी ने अनुविभागीय दण्डाधिकारी ओमती को मजिस्ट्रियल जांच में सहायता हेतु तीन चिकित्सकों का पैनल भी बनाया है । इनमें मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी जबलपुर, सिविल सर्जन सेठ गोविंददास चिकित्सालय जबलपुर तथा अनुविभागीय दण्डाधिकारी द्वारा नामांकित डॉक्टर शामिल है । चिकित्सकों का यह पैनल प्रकरण की जांच कर अपना अभिमत प्रस्तुत करेगा । कलेक्टर ने मजिस्ट्रियल जांच एक सप्ताह में पूरी कर जाँच प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के निर्देश अनुविभागीय दण्डाधिकारी ओमती को दिये हैं । ज्ञात हो कि दामोदर चौधरी ने आज कलेक्टर को लिखित शिकायत में बताया कि एक जनवरी 2016 को करेली रेल्वे फाटक के पास दुर्घटना के कारण उसका बायां हाथ एवं बायां पैर फ्रेक्चर हो गया था । गंभीर चोटों के कारण उसे करेली से नरसिंहपुर तथा नरसिंहपुर से जबलपुर मेडिकल कालेज रिफर किया गया । आवेदक ने शिकायत में बताया कि मेडिकल कॉलेज जबलपुर में पाण्डे हॉस्पिटल के कुछ दलालों ने उसे बहलाकर पाण्डे हास्पिटल में मेडिकल से अच्छा इलाज कराने हेतु सलाह दी । पाण्डे हॉस्पिटल द्वारा बी.पी.एल. कार्ड धारक होने के कारण उसका राज्य बीमारी सहायता योजनांतर्गत प्रकरण तैयार कर शासन से रूपये 1 लाख 90 हजार की राशि प्राप्त की गयी । आवेदक का पाण्डे हॉस्पिटल में आपरेशन एवं इलाज किया गया परंतु उसे कोई लाभ नहीं हुआ । आवेदक की शिकायत थी कि उसका सही ढंग से इलाज न कर उसे प्राप्त राशि हड़प ली गयी । क्रमांक/1208/जनवरी-99/जैन


पनागर मै झूलती मोत*
Crime
Madhya Pradesh
Jabalpur
*खम्बे में झूलती मोत* जबलपुर ll पनागर से सात किलोमीटर मझोली रोड सिंगोद में शासकीय अस्पताल के सामने ही 33 kv के खम्बे में ही बांस के सहारे 11kv से दौड़ते करेंट के तार को बाँध दिया गया है, जिससे जान का खतरा हमेशा यहाँ से गुजरने वालों पर बना रहता है, विद्युत् मंडल की लापरवाही से कभी भी बड़ा हादसा घट सकता है, क्षेत्रीय लोगों द्वारा कई बार लाइनमैनो को आगाह करने के बाद आज तक इसे सुधार नहीं गया है जबकि सप्ताह में 3-4 बार बसूली के लिए mpev की टीम अधिकारी सहित इस क्षेत्र से गुजरती है जो लगातार किसानों से बसूली कर रही है पर आज तक खम्बे में लटकती मोत की तरफ उनका ध्यान नहीं गया है,जबकि लगभग 20 से अधिक गाँव के लोगों का एक मात्र सहारा वही शासकीय अस्पताल है इस कारण वहां लोगों की भीड़ भी बनी रहती है मझोली की ओर आने जाने वाली सभी बसें भी वहां रूकती हैं इसके साथ ही वहां से कुछ दूरी में 2 स्कूल भी हैं जिनमे बच्चे पढाई करने आते हैं, लेकिन mpev की बंद आँखों को इस खम्बे में लटकती मोत नहीं दिख रही है।


Crime
Madhya Pradesh
CHHINDWARA
छिंदवाडा सिंगोड़ी:- सिंगोड़ी से लगभग 11 किलो मीटर दूर स्थित पंचायत हिवरखेड़ी में सरपंच व सचिव कि लपरवाही एवम् मनमानी से ग्रामवाशी परेशान। ग्राम पंचायत हिवरखेड़ी में यह आलम है कि ग्राम पंचायत के माध्यम से नल जल व्यवस्था के सुधार हेतु पिने योग्य पानी के लिए शासन से बोर लगाया गया जिससे की ग्राम को पानी की समस्या निजात मिल सके, किन्तु ग्राम में कुछ ही दिनों तक उस पानी को सही रूप से नल जल योजना के तहत दिया गया व आज पूरा गांव पानी की समस्या से जूझ रहा है वरन इसलिए कि ग्राम पंचायत व्दारा नल चालक नियुक्त कर व्यवस्था ताकि वह पानी व्यवस्था को सुचारू रूप से चला सके। *नल जल योजना का हो रहा गलत प्रयोग* ग्राम में देखा जाये तो पिने योग्य पानी की बहुत किल्लत है वही ग्रामीण दिलराम वर्मा ने बताया कि नल चालक ने बोर से लगी हुई ज़मीन किराये से ले रखी है जँहा पर उसने आलू व बहुत सी सब्जियां लगा रखा है व उसपर ही बोर का पानी उपयोग पर लेता है। *बोर को ख़राब बताता है नल चालक* ग्रामीणों ने सचिव सरपंच से आपनी रखी , कि ग्राम में बोर का पानी नही आ रहा है नलजल योजना क्यों बंद पड़ी है,वही सरपंच सचिव को चालक बोर को ख़राब बताता है , चालक का कहना है कि बोर अभी ख़राब है परंतु उसी बोर से नल चालक ने बोर के करीब से लगी जमीन किसानो की जमीन मे आलु आदि फसल लगाकर उसकि सिंचाई की जा रही है।