27 पनागर मै शिक्षा विभाग का बड़ा खेल...

*मासूमों के बचपन से खेल रहा शिक्षा विभाग* प्रकाश चंद प्यासी पनागर मध्य प्रदेश सरकार भले ही बड़े बड़े आंकड़ों के आधार पर देश में  अपना गुड़गान करने में लगी है पर इसके विपरीत सर्व शिक्षा अभियान में सरकार के दावों की जो झलक सामने आई है उससे यही लगता है कि इन मासूमों को क्या शिक्षा प्राप्त करने का अधिकार नहीं है,  ताजा आंकड़ों में पनागर जन शिक्षा केंद्र के अंतर्गत 72 स्कूल आते है जिनमे कुल 916 छात्र, छात्राओं ने साईकिल हेतु आवेदन किया था जिसमे 348 छात्र तथा 344 छात्राओं कुल 692 साइकिलें स्वीकृत हुईं थी, पर अभी तक प्रशासन द्वारा 249 छात्र और 231 छात्राओं कुल 480 साइकिलें ही वितरित कर पाया है। सर्व शिक्षा अभियान का दम भरने वाले प्रशासन द्वारा छात्र छात्राओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है, इनमे न जाने ऐसे कितने छात्र छात्राएं हैं जो स्कूल नहीं जा रहे हैं जिसका परिणाम भुगत रहे हैं छात्र-छात्राएं। *जंग खा रही साइकिलें तरस रहे छात्र-छात्राएं* पनागर जन शिक्षा केंद्र के अंतर्गत लगभग 71 स्कूल आते हैं  जिनमे 1 किलोमीट से अधिक दूरी के कक्षा 6 के स्कूल आने जाने वाले छात्र- छात्राओं के लिए शासन द्वारा साईकिल का वितरण किया जाता है जिसमे कुछ छात्र छात्राओं को साईकिल का वितरण किया जा चूका है। हर वर्ष 16 जून 2016से नया शिक्षा सत्र शुरू हो जाता है जो सितंबर तक चलता है अर्थात सितंबर तक अनिवार्य रूप से बच्चों को साईकिल का वितरण कर दिया जाना चाहिए सत्र का अंतिम चरण चल रहा है कुछ ही समय में वार्षिक परीक्षाएं शुरू होने वाली हैं कोई भी बच्चा शिक्षा से वंचित न हो इस कारण स्कूल चलें हम जैसी ना जाने कितनी योजनाएं चलाईं जा रही हैं लेकिन शिक्षा विभाग द्वारा सर्व शिक्षा मिशन की किस तरह से धज्जियाँ उड़ाई जा रही है इसका उदाहरण पनागर में देखने मिल रहा है यहाँ जन शिक्षा केंद्र से प्राप्त जानकारी के अनुसार अभी 92 साइकिलें जन शिक्षा केंद्र में रखी हैं जिनके वितरण के लिए कोई भी अधिकारी अपनी जबाबदारी नहीं दिखा रहा है, ऐसे न जाने कितने छात्र - छात्राएं हैं जो शिक्षा से वंचित हैं *जन शिक्षाधिकारी वंदना तिवारी पनागर* पिछले सत्र में साइकिलों की राशि के चेक दिए जाते थे जिससे अभिभावक स्वयं खरीद लेते थे पर इस बार शासन से साईकिल देने का प्रावधान आ गया है,कुल 212 साइकिलें आना बाकी है जो साइकिलें आ चुकी हैं इन 92 साइकिलों के वितरण के लिए आदेश जारी नहीं हुए हैं क्योंकि विभाग द्वारा साईकिल कंपनी को एन ओ सी प्रदान नहीं की गई है, पात्र हुए प्रत्येक छात्र छत्राओं को जिनका नाम पात्रता सूची में है उनको साईकिल प्रदान की जाएगी, लेकिन प्रदान कब की जाएगी ना तो उन्हें इसका कोई आभास है और ना ही इसका कोई उत्तर है *नोडल अधिकारी*- साइकिलों के वितरण में अभी 1-2 माह का समय और लगेगा जिन बच्चों को साईकिल नहीं मिली है उनकी शिक्षा पर अगर असर हो रहा है तो इसमें हम कुछ नहीं कर सकते हैं क्योंकि अभी जब तक पूरी 212 साइकिल नहीं आ जाएंगी तब तक साइकिलों का वितरण नहीं हो पाएगा, जो 92 साइकिलें रखी हुईं हैं उन साइकिलों को अभी तक हमारे विभाग को सौंपा नहीं गया है इस कारण ये 92 साइकिलें अभी नहीं बांटी गई हैं

State